Tuesday, March 6, 2012

The Godfather

फिल्मकारों के लिए सबसे चुनोती भरा और आकर्षक  विषय 'अपराध' रहा है . अपराध आधारित कहानियों के फिल्मांकन में इस बात का डर हमेशा  बना रहता है कि जरा सी चूक से पात्र का महिमा मंडन होते देर नहीं लगती.और ऐसा होता है तो  वह चरित्र ' लार्जर देन लाइफ ' छवि हासिल कर लेता है . किसी भी लेखक के लिए इससे बड़ी बात नहीं होती कि उसका गढ़ा पात्र उससे आगे निकलकर स्वयं अपनी पहचान बना ले .
''गोडफादर ''एक ऐसी ही कृति है . मारियो पूजो द्वारा रचित इस कहानी (1969 ) पर फ्रांसिस फोर्ड कपोला ने इसी नाम से फिल्म बनाई(1972 ) . महज एक माह के अन्दर फिल्म ने अपना परचम फैला दिया . इसी बरस इस फिल्म ने तीन अकादमी पुरस्कार अपनी झोली  में डाले .
मारियो पूजो ने पत्रकारिता करते हुए अपने जीवन कि शुरुआत की थी. यही पर उन्होंने असंगठित अपराध को माफिया की शक्ल लेते देखा था . आगे चल कर यह अनुभव ही उनके उपन्यास के लिए महत्वपूर्ण बने . पांच बच्चो के पिता मारियों ने अपने उपन्यास के मुख्य पात्र डान कोर्लिओनी का परिवार भी खासा बड़ा रखा. अपराध पर बनी इस फिल्म में 29 मिनिट का एक दिलचस्प दृश्य  डॉन की बेटी के  विवाह का है। निर्देशक ने इस दृश्य में अधिकांश चरित्रों का परिचय कराते हुए डॉन के किरदार के अनछुए पहलुओं को हाईलाइट किया है।


अपराधिक प्रष्टभूमि पर आधारित होते हुए भी 'गोडफादर ' पारिवारिक मूल्यों की पुरजोर वकालत करता है . यह इस सम्मोहक कहानी का उजला पक्ष है . 1  मार्च को( 2012 ) इस फिल्म ने चार दशक पुरे किये है . इस दिन को यादगार बनाने के लिए अमरीकी थियेटर श्रंखला सिनेमेक ने अपने पचपन थियेटर में एक दिन के लिए इस फिल्म का प्रदर्शन किया . इसी तरह का आयोजन 19   अप्रेल  को किया गया  जिसमे इसी फिल्म की दूसरी कड़ी'गोडफादर 2 ' का प्रदर्शन किया  .
गोडफादर प्रथम ने जंहा मर्लिन ब्रांडो को किम्वदंती बना दिया वही गोडफादर द्वितीय ने अल पचीनो को सितारा हैसियत दिलाई . दुनिया भर में आज भी उपन्यास और फिल्म दोनों ही रूप में यह कृति सराही जा रही है . आज भी दुनिया भर के फिल्मकार इस महाकाव्य से' प्रेरणा ' उठाने में गुरेज नहीं करते है . इस फिल्म और उपन्यास की बदौलत इटली का सिसली शहर बड़ा पर्यटन केंद्र बन गया है। 

ऑस्कर की तलाश में न्यूटन

अमूमन हर वर्ष लगभग सितम्बर माह के अंतिम हफ्ते में भारत की और से  ऑस्कर समारोह में हिस्सा लेने के लिए एक भारतीय  भाषाई फिल्म का चयन किया जा...